विश्रांति योग का एक तरीका

 

vishranti

ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ चुप हो गये.. वही भीतर चले और शांत हो रहे ॐ स्वरूप ईश्वर| ये भी अपने आप में स्वतंत्र साधन.. विश्रांति योग देने में सक्षम साधन | ॐ ॐ ॐ चुप हो गये और ह्रदय में चले २–४ बार फिर चुप हो जाये | ॐ ॐ ॐ ह्रदय में भी चला| जितनी देर बाहरी उच्चारण किया, उससे थोडा-सा ज्यादा समय में भीतर उच्चारण और उतना समय भीतर शांत हो गये | न कपि चिंतयेत | ये सारी शिक्षाओं से भी ऊँची शिक्षा है | सारे आपाधापी से कर्मों से बहुत ऊँचा कर्म है |

Advertisements

Tags: , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: